सामूहिक दुष्कर्म पीड़ित LLB छात्रा ने किया सुसाइड

उत्‍तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में जहांगीराबाद क्षेत्र में दुष्कर्म पीड़ित लॉ की एक छात्रा ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। परिजनों का आरोप है कि दुष्कर्म के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई न होने से छात्रा परेशान थी। उसने दो सितंबर को एक लेखपाल समेत दो लोगों पर शहर कोतवाली में दुष्कर्म का केस दर्ज कराया था। पुलिस अधीक्षक ने इस पूरे मामले की जांच एएसपी उत्तरी आरएस गौतम को सौंपी है।

दरअसल, टिकैतनगर क्षेत्र की रहने वाली 22 वर्षीय युवती जहांगीराबाद के एक गांव में अपनी मौसी के घर रहकर एलएलबी की पढ़ाई कर रही थी। मंगलवार सुबह छात्रा को उसकी मौसी उठाने पहुंची तो कमरे का दरवाजा नहीं खुला। कई बार दस्तक देने के बाद भी अंदर कोई आवाज नहीं आई तो परिवारीजनों ने संदेह हुआ। किसी तरह दरवाजा खोला तो युवती का शव फंसे से लटका था। उसके गले में दुपट्टा कसा था। पास में एक स्टूल रखा था।

इसके बाद सूचना पर पहुंची पुलिस ने कमरे से मिले मोबाइल फोन को कब्जे में लिया। प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार का कहना है कि परिवारीजन की तहरीर व जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी। वहीं, छात्रा की मां ने दो दिसंबर को दुष्कर्म मामले का केस शहर कोतवाली में दर्ज कराया था। आरोप था कि कॉलेज से लौटते समय दोनों युवकों ने बड़ेल के पास दुष्कर्म किया। इस मामले में पुलिस ने अभी तक किसी आरोपी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की। मां का आरोप है कि आरोपियों द्वारा केस वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा था। इससे पीड़िता तनाव में थी।

मामले में एसपी-डीएम ने की संयुक्त प्रेसवार्ता

वहीं, इस मामले में जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह और एसपी आकाश तोमर ने बुधवार की सुबह कलेक्ट्रेट में जॉइंट प्रेस वार्ता की। एसपी ने बताया कि छात्रा की मां का लेखपाल से एक कार खरीदने को लेकर पैसों के लेनदेन का विवाद था इसके लिए पहले लेखपाल ने उसकी मां के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया था। इस बात को लेकर छात्रा की मां ने अपनी बेटी के साथ दुष्कर्म का मामला कोर्ट के आदेश पर दर्ज कराया था।

इस मामले की विवेचना शहर कोतवाली में की जा रही है। एसपी ने बताया छह जनवरी की रात जहांगीराबाद थाना क्षेत्र के गांव में अपनी मौसी के यहां रह रही छात्रा ने जब आत्महत्या की तो उसके पिता ने पहले पुलिस को एक लिखित प्रार्थना पत्र दिया जिसमें किसी पर आरोप नहीं लगाया गया और बताया गया कि पारिवारिक विवाद में उसने यह कदम उठाया है।

मां ने तैयार करवाया नया प्रार्थना पत्र

इसके अगले दिन छात्रा की मां ने कुछ वकीलों से मिलकर नया प्रार्थना पत्र तैयार कर दो लोगों के खिलाफ छात्रा को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। इस तहरीर पर दोनों के खिलाफ जहांगीराबाद थाने में लेखपाल शिवकुमार और शिवपल्टन पर धारा 306 के तहत केस दर्ज कराया गया है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही हैं। घटना की जांच एसपी गौतम को सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट मिलने पर आगे की कार्रवाई होगी।