रामविलास पासवान की अंतिम विदाई, आवास पर पहुंचे PM समेत कई नेता

रामविलास पासवान की अंतिम विदाई, आवास पर पहुंचे PM समेत कई नेता

नई दिल्ली : एलजेपी (Lok Janshakti Party) नेता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का लंबी बीमारी के बाद गुरूवार शाम निधन हो गया. उन्होंने 74 साल के उम्र में दुनिया को अलविदा कहा. वे काफी दिनों से अस्पताल में भर्ती थे, लेकिन गुरुवार की शाम को उनके बेटे और लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने उनके निधन की जानकारी दी.

रामविलास पासवान की अंतिम विदाई, आवास पर पहुंचे PM समेत कई नेता

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी श्रद्धांजलि

वहीँ, रामविलास पासवान के निधन पर शोक व्यक्त करने के लिए राष्ट्रपति भवन और संसद का झंडा आधा झुकाया गया. केंद्रीय मंत्री और LJP नेता राम विलास पासवान का पार्थिव शरीर AIIMS (All India Institute of Medical Sciences) से उनके आवास ले जाया जा रहा है. उनकी अंतिम विदाई में शामिल होने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि देने पहुंचे.

रामविलास पासवान की अंतिम विदाई, आवास पर पहुंचे PM समेत कई नेता

मैंने एक दोस्त, मूल्यवान सहयोगी को खो दिया – PM

वहीँ, उनके आवास पर पहुंचकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय मंत्री और LJP नेता रामविलास पासवान को उनके आवास पर अंतिम श्रद्धांजलि अर्पित की. बता दें कि उन्होंने ट्वीट कर लिखा था, ‘श्री राम विलास पासवान जी का निधन एक व्यक्तिगत क्षति है. मैंने एक दोस्त, मूल्यवान सहयोगी को खो दिया है, जो हर गरीब व्यक्ति को यह सुनिश्चित करने के लिए बेहद भावुक था कि वह गरिमा का जीवन जीते हैं. उनके साथ में काम करना, पासवान जी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना एक अविश्वसनीय अनुभव रहा है. मंत्रिमंडल की बैठकों के दौरान उनके हस्तक्षेप व्यावहारिक थे. राजनीतिक ज्ञान, राज्य-कौशल से लेकर शासन के मुद्दों तक, वह प्रतिभाशाली थे. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना. शांति.

रामविलास पासवान की अंतिम विदाई, आवास पर पहुंचे PM समेत कई नेता

पीड़ितों की सेवा में समर्पित किया था उनका जीवन

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा, पासवान को उनके आवास पर अंतिम श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने ट्वीट कर लिखा रामविलास पासवान जी हमारे बीच नहीं रहे.यह दिल को बहुत दुख देने वाली खबर है. रामविलास जी हमेशा गरीबों, पीड़ितों, वंचितों व समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के लिए लड़ने वाले थे. सारा जीवन उन्होंने वंचितों, पीड़ितों की सेवा में समर्पित किया. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें. ॐ शांति.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *