धरने पर बैठे सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे हरिवंश, खुद करेंगे एक दिन का उपवास

धरने पर बैठे सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे हरिवंश, खुद करेंगे एक दिन का उपवास

धरने पर बैठे सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे हरिवंश, खुद करेंगे एक दिन का उपवास

नई दिल्ली : कृषि बिल को लेकर राज्यसभा में हुए हंगामे के बाद विपक्ष द्वारा विरोध का मामले ने तूल पकड़ लिया है. वहीँ राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने विपक्षियों द्वारा किए गए अनियंत्रित व्यवहार से नाराज़गी जताते हुए एक दिन का उपवास रखा है.

सभापति को लिखा पत्र

उप सभापति हरिवंश ने राज्यसभा के सभापति एम् वेकैया नायडू को पत्र लिख कहा, ‘राज्यसभा में जो कुछ हुआ, उससे पिछले दो दिनों से गहरी आत्मपीड़ा, तनाव और मानसिक वेदना में हूं. मैं पूरी रात सो नहीं पाया.’

उपसभापति ने लिखा, ‘दो दिन से गहरी आत्मपीड़ा, आत्मतनाव और मानसिक वेदना में हूं. पूरी रात सो नहीं पाया. मुझे लगता है कि मेरे साथ अपमानजनक व्यवहार हुआ, उसके लिए मुझे एक दिन का उपवास रखना चाहिए. शायद उससे सदस्यों के अंदर आत्मशुद्धि का भाव जागृत हो.’

‘सदन के सदस्यों की ओर से लोकतंत्र के नाम पर हिंसक व्यवहार हुआ. आसन पर बैठे व्यक्ति को भयभीत करने की कोशिश हुई. उच्च सदन की हर मर्यादा और व्यवस्था की धज्जियां उड़ाई गईं. सदन में सदस्यों ने नियम पुस्तिका फाड़ी. मेरे ऊपर फेंका.’

सदन के जिस ऐतिहासिक टेबल पर बैठकर सदन के अधिकारी, सदन की महान परंपराओं को शुरू से आगे बढ़ाने में मूक नायक की भूमिका अदा करते रहे हैं, उनकी टेबल पर चढ़कर सदन के जरूरी कागजात-दस्तावेजों को पलटने, फेंकने और फाड़ने की घटनाएं हुईं.’

प्रदर्शन पर बैठे सांसदों से उपसभापति ने की मुलाकात

वहीँ दूसरी तरफ प्रदर्शन पर बैठे राज्यसभा से निलंबित आठ सांसदों से उपसभापति हरिवंश ने मुलाकात की. उन्होंने इस दौरान सभी को चाय पिलाई. उनकी प्रशंसा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा कि ‘यह हरिवंश जी की उदारता और महानता को दर्शाता है. लोकतंत्र के लिए इससे खूबसूरत संदेश और क्या हो सकता है. मैं उन्हें इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं.’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *