भोजपुरी फिल्मों को मिलने वाली सब्सिडी पर लग सकती है रोक

लखनऊ। भोजपुरी फिल्मों में अश्लीलता फैलाने वाला मामला अब तूल पकड़ रहा है। इसपर एक्शन लेते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने फैसला लिया है कि भोजपुरी फिल्मों में अश्लीलता परोसने वालों को अनुदान नहीं मिलेगा। फिल्म विकास परिषद जल्द इसपर एक कमेटी का गठन करेगा। वहीं इस मामले पर हास्य अभिनेता और फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की है।

राजू श्रीवास्तव का कहना है कि भोजपुरी भाषा में बनने वाली फिल्मों व गानों में बढ़ती हुई अश्लीलता सभ्यता और संस्कार को नष्ट कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, ऐसी फिल्में और गाने जो अश्लीलता को बढ़ावा देते हैं, उन फिल्मों पर सरकार की तरफ से मिलने वाली सहायता धनराशि (अनुदान) पर तत्काल रोक लगाए। राजू श्रीवास्तव ने बताया कि, इसमे कुछ समस्या आ रही है कि, फ़िल्म वाले मुम्बई से सेंसर लेकर आते हैं। इसके लिए अब एक कमेटी बनाएंगे जो सेंसर के बाद भी यहां अलग से देखेंगे। प्रदेश में हम अनुदान दे रहे हैं, इसलिए ये हमारा अधिकार है।

राजू श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री को बताया कि, जिन 62 फिल्मों की स्क्रिप्ट का परीक्षण किया गया है, उनमें से कुछ फिल्मों की स्क्रिप्ट पर इसलिए रोक लगा दी गई क्योंकि, यह फिल्म अश्लीलता और अनैतिकता के साथ-साथ सरकार द्वारा बनाई गई फिल्म नीति के निर्धारित मानकों पर खरी नहीं उतरतीं। कुछ फिल्मों की स्क्रिप्ट को पुनः विचार के लिए समिति के सदस्यों के पास दोबारा भेज दिया गया है, ताकि उसका गहन अध्ययन किया जा सके। जो फिल्में पहले ही रिलीज हो चुकी हैं, उनके निर्माताओं को सब्सिडी का भुगतान जल्द ही किया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *