अब यहां कराया गया दलित परिवार धर्म परिवर्तन, मचा बवाल

अब यहां कराया गया दलित परिवार धर्म परिवर्तन, मचा बवाल

अब यहां कराया गया दलित परिवार धर्म परिवर्तन, मचा बवाल

जयपुर: देश में दलित समाज के लोगों पर लगातार किसी न किसी प्रकार से अत्याचार किया जा रहा है। चाहे वह उत्तर प्रदेश हो या फिर देश का कोई अन्य हिस्सा रोज़ कोई एक ऐसी खबर ज़रूर होती है। जहां इलाके में रसुख रखने वाले लोग दलितों पर अत्याचार करते नज़र आते हैं। ऐसा ही कुछ मामला सामने आया है राजस्थान में अलवर जिले के बड़ौदा मेव पुलिस थाना इलाके में। यहां भयाड़ी गांव निवासी एक दलित परिवार का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। करीब 8 माह पहले इस दलित परिवार ने मुस्लिम धर्म अपनाया था। लेकिन वहां कथित तौर पर हुए अत्याचारों के कारण परिवार के सदस्‍यों ने दोबारा से हिंदू धर्म अपना लिया। अब इस परिवार ने अलवर जिला एवं सेशन कोर्ट से गुहार लगाई है और ज्‍यादती करने वाले आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

परिवार ने लगाया आरोप

भयाड़ी गांव निवासी मेघचंद उर्फ मोहम्मद अन्नस ने आरोप लगाया कि सत्तार, तैयब और शहजाद सहित 15 अन्य लोग उनका जबरन धर्म परिवर्तन कराने के लिये उन्हें हरियाणा ले गए। वहां उनका खतना भी कराया गया। उसके बाद रहने के लिये जमीन दी। जबरन धर्म परिवर्तन कराने के बाद कहा कि इस धर्म में बहुत कुछ है उसके बाद आरोपित उन्हें जमात में जम्मू-कश्मीर लेकर गए। वहां उनके बच्चों को मारने की धमकी दी है कि कुछ करोगे तो तुम्हारी जान को खतरा हो सकता है। कोर्ट में पेश परिवाद में मेघचंद ने आरोप लगाया कि आरोपित धर्म परिवर्तन कराने के बाद उसकी पत्नी पर गंदी नजर रखने लगे। उससे जबरन संबंध बनाने के लिये दबाव बनाया गया। इसके बाद वे जैसे-तैसे करके मौका देखकर जम्मू-कश्मीर से वापस भाग निकले।

कोर्ट से आदेश अरोपितो के खिलाफ़ कार्रवाई

पीड़ित परिवार के वकील बनवारीलाल ने बताया कि इस संबंध में परिवाद आया था। कोर्ट से आदेश हुए हैं कि जिन लोगों ने उन पर अत्याचार किया है उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। बता दें कि राजस्थान के बॉर्डर इलाके में पहले भी धर्म परिवर्तन की खबरें आती रही हैं। बाड़मेर जिले में कुछ समय पहले एक गांव के कई परिवारों ने स्वयं धर्म परिवर्तन किया था। इस संबंध में जिला पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *