इंसाफ की लड़ाई में दोनों वकील फिर आमने-सामने, निर्भया केस में हुई थी टक्कर

इंसाफ की लड़ाई में दोनों वकील फिर आमने-सामने, निर्भया केस में हुई थी टक्कर

इंसाफ की लड़ाई में दोनों वकील फिर आमने-सामने, निर्भया केस में हुई थी टक्कर

नई दिल्ली : दिल्ली में हुए निर्भय कांड में सभी बलात्कारियों के लिए केस लड़ने वाले वकील एपी सिंह ने हाथरस मामले में आरोपियों का केस लड़ने का फैसला लिया है. इस मामलें में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के द्वारा एपी सिंह को वकील के तौर पर नियुक्त किया गया है.

दरअसल हाथरस में हुए सामूहिक दुष्कर्म में सभी आरोपियों के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री राजा मानवेंद्र सिंह की तरफ से एपी सिंह केस लड़ने के लिए कहा गया है. मानवेंद्र सिंह ने जारी किए गए पत्र में कहा है कि अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा पैसे इकट्ठा कर वकील एपी सिंह की फीस भरेगी. इस पत्र में कहा गया है कि हाथरस केस के माध्यम से एससी-एसटी एक्ट का दुरुपयोग करके सवर्ण समाज को बदनाम किया जा रहा है, जिससे खासतौर से राजपूत समाज बेहद आहत हुआ है. ऐसे में इस मामले में दूध का दूध और पानी का पानी करने के लिए मुकदमे की पैरवी आरोपी पक्ष की तरफ से एपी सिंह के द्वारा कराने का फैसला किया गया है. यही नहीं जानकारी के मुताबिक हाथरस केस के आरोपियों के परिवार की तरफ से भी एपी सिंह से इस मामले की पैरवी करने के लिए कहा गया है.

वहीँ दूसरी तरफ, निर्भय के दोषियों को फांसी की सजा दिलाने के बाद अब अधिवक्ता सीमा समृद्धि कुशवाह ने हाथरस की गुड़िया को इंसाफ दिलाने के लिए कमर कास ली है. दरअसल पीड़ित परिवार की तरफ से आरोपियों को सजा दिलाने के लिए इस मामले में सीमा कुशवाहा का कहना है कि वे जल्द ही सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दाखिल करेंगी. साथ ही मुकदमें को दिल्ली ट्रांसफर करने की कोर्ट से मांग करेंगी. उनका कहना था कि जब तक यह मामला यूपी के बाहर नहीं जाएगा, तब तक इस मामले में न्याय नहीं हो सकेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *