निर्भया केस: SC पहुंचा दोषी विनय, दायर की क्यूरेटिव पिटीशन

दिल्‍ली के बहुचर्चित निर्भया मामले के चारों दोषियों को फांसी पर लटकाए जाने की तारीख का ऐलान होने के बाद एक तरफ फांसी देने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है तो दूसरी तरफ दोषियों की कोशिश इस बात की है कि उन्हें मिलने वाली फांसी की सजा में और देरी होती जाए। इसी कड़ी में दोषियों की ओर से एक और कोशिश की जा रही है क्यूरेटिव पिटीशन के जरिए, जिसे दोषी विनय कुमार शर्मा की ओर से आज दाखिल कर दिया गया।

चार दोषियों में से एक विनय कुमार शर्मा की ओर से सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पीटिशन दाखिल की गई है। वकील एपी सिंह ने कहा कि हमने 2017 में पवन गुप्ता की ओर से दायर एसएलपी की प्रमाणित प्रति के लिए पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी दायर की है। उनका कहना है कि वह सुप्रीम कोर्ट में पवन के वकील नहीं थे। जबकि एक अन्य दोषी अक्षय के लिए, वकील ने कोर्ट की ओर से रिव्यू पिटीशन खारिज होने के आदेश की प्रमाणित प्रति के लिए आवेदन दायर किया है।

पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार को चारों दोषियों के लिए फांसी की तारीख 22 जनवरी की सुबह 7 बजे तय करने के बाद डेथ वॉरंट जारी कर दिया था। हालांकि, कोर्ट के फैसले के बाद दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा था कि वह सुप्रीम कोर्ट में इसके खिलाफ क्यूरेटिव पिटीशन दायर करेंगे। डेथ वॉरेंट जारी करते हुए पटियाला हाउस कोर्ट इस फैसले को चुनौती देने के लिए चारों को 7 दिन का वक्त दिया था।