UPI ट्रांसेक्शन करने वालों के लिए बड़ी खबर, 1 जनवरी से लागू हो रहें हैं ये नियम

UPI ट्रांसेक्शन करने वालों के लिए बड़ी खबर, 1 जनवरी से लागू हो रहें हैं ये नियम

UPI ट्रांसेक्शन करने वालों के लिए बड़ी खबर, 1 जनवरी से लागू हो रहें हैं ये नियम

लखनऊ : पेटीएम, गूगल पे जैसे थर्ड पार्टी ऐप का इस्तेमाल कर यूपीआई पेमेंट करते हैं तो यह खबर आपके है. नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (National Payments Corporation of India) ने थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स पर एक जनवरी से 30 फीसद कैप लगाने का फैसला लिया है. NPCI ने थर्ड पार्टी ऐप्स के एकाधिकार को खत्म करने के लिए यह निर्णय लिया है.

NPCI ने यह फैसला भविष्य में किसी भी थर्ड पार्टी ऐप के एकाधिकार को रोकने और उसे आकार के कारण मिलने वाले विशेष फायदे से रोकने के लिए किया है. एनपीसीआई के इस फैसले से यूपीआई ट्रांजैक्शन में किसी भी एक पेमेंट ऐप का एकाधिकार नहीं होगा.

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (National Payments Corporation of India) ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स (TPAP) पर 30 फीसदी कैप लगाने का फैसला किया गया है. NPCI ने यह फैसला भविष्य में किसी भी थर्ड पार्टी ऐप की मोनोपॉली रोकने और उसे साइज के हिसाब से मिलने वाले विशेष फायदे से रोकने के लिए किया है. NPCI के इस फैसले से UPI ट्रांजेक्शन में किसी भी एक पेमेंट ऐप का एकाधिकार नहीं होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *