प्रकृति चिकित्सा की ओर एक और कदम हैं नमः योग एन्ड नेचुअरपैथी सेंटर

क्षेत्र में योग और नेचुअरपैथी के प्रचार प्रसार के लिए सेंटर की शुरुआत बुधवार को “नमः योग एन्ड नेचुअरपैथी सेंटर” का उद्घाटन किया गया। सेंटर का उद्घाटन पूर्व अध्यक्ष नम्रता पाठक, पूर्व विधायक शारदा प्रसाद शुक्ला, मनकामेश्वर मंदिर की महंत दिव्या गिरी महराज और लक्षमण पुरुष्कार से सुशोभित लक्ष्मी कांत मिश्रा समेत अन्य महत्वपूर्ण लोग उपस्थित रहे। ये सेंटर राहुल मार्केट, साले नगर तिराहा, बंगला बाजार, लखनऊ में है। वर्तमान समय में बढ़ती स्वास्थ्य समस्याओं के निवारण और सम्पूर्ण विकास में योग और नेचुअरपैथी किस तरह हमारी मदद कर सकती। इस विषय की जागरूकता और लोगों के जीवन में योग को विशेष स्थान दिलाने के उदेश्य से इस सेंटर को स्थापित किया गया है। योग एक वैज्ञानिक पद्धति है, इससे मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ा सकते हैं। दमा जैसे रोग के उपचार में भी योग व प्राकृतिक चिकित्सा प्रभावी ढंग से असर डालती है। आयुर्वेद, योग और नेचुरोपैथी के जरिए मेडिकल पयर्टन का इतिहास वर्षो पुराना है।

योग और नेचुरोपैथी एक अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त करने में मदद करते है साथ ही जीवन की गुणवत्ता भी बढाते है। कई सारी बीमारिया जो की आधुनिक युग ने दी है जैसे की स्ट्रोक, कैंसर, मधुमेह, गठिया आदि नियंत्रित होती है और अन्य रोंग भी नहीं होते है।

नेचुरोपैथी एक प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली है जिसमे दवाओ का उपयोग किये बिना रोगों को ठीक किया जाता है| यह एक प्राचीन और पारंपरिक विज्ञान है जो हमारे शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक पहलुओं को एकीकृत करता है। नेचुरोपैथी में कई रोगों को रोकने की क्षमता है और जो रोंग हो चुके है उसका इलाज आप कर सकते है।

नेचुरोपैथी उपचार का मुख्य उद्देश्य लोगो को अपनी दिनचर्या बदलकर स्वस्थ रहने की कला सिखाना है। इससे ना केवल आपके रोंग ठीक होते है बल्कि आपका शरीर भी मजबूत बनता है और आपके चेहरे पर चमक आती है।