फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ मुस्लिम समुदाय का विरोध, जानिए क्या है पूरा मामला

फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ मुस्लिम समुदाय का विरोध, जानिए क्या है पूरा मामला

फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ मुस्लिम समुदाय का विरोध, जानिए क्या है पूरा मामला

भोपाल : फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मैनुअल मैक्रों द्वारा दिए गए बयानों को लेकर आक्रोशित देश भर से मुस्लिम समुदाय के लोग प्रदर्शन कर रहें हैं. फिलिस्तीन, तुर्की, जॉर्डन, कतर, सऊदी अरब, बंग्लादेश, पाकिस्तान समेत कई मुल्कों में फ्रांस की आलोचनाएं की जा रही है इतना ही नहीं प्रॉडक्ट्स का बॉयकॉट भी किया जा रहा है.

वहीँ मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के इकबाल मैदान में भी विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में हजारों की संख्या में लोग एकत्र हुए और फ्रांस के राष्ट्रपति का कड़ा विरोध किया. साथ ही उनसे माफी मांगने की अपील की. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का जमकर उल्लंघन किया गया. जिसके पुलिस ने विधायक आरिफ मसूद समेत 2 हजार अज्ञात लोगों पर कोरोना गाइडलाइन का पालन ना करने का लेकर केस दर्ज कर लिया है.

कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने भारत में रह रहे मुस्लिमों को आहत किया है, इसलिए भारत के प्रधानमंत्री को या निर्णय लेना चाहिए कि फ्रांस से अब हमें आयात-निर्यात बंद कर दिया जाए. इस दौरान इकबाल मैदान में भारी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग पहुंचे.

बता दें कि फ्रांस के नीस शहर के बीते दिन एक चर्च में गुरुवार सुबह चाकू से हमला किया गया. इसमें तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि कई घायल हैं. ये घटना सुबह 9 बजे की है. हमलावर ने एक महिला का गला काट दिया. शहर के नोट्रे डेम चर्च में ये हमला हुआ.वहीँ एक इंटरव्यू के दौरान मैक्रों ने इस्लाम को संकट में पड़ा धर्म बताया था. बीते दिनों फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद का अप्पतिजनक कार्टून दिखने वाले टीचर की हत्या कर दी गई थी. जिसके बाद राष्ट्रपति ने कट्टर्पंती हरकतों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात की थी.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *