मूडीज ने घटाया भारत का GDP का अनुमान

Spread the News

केंद्र सरकार की देश को 50 खरब इकोनॉमी बनाने की कवायद को झटका लग सकता है क्‍योंकि गुरुवार को मूडीज ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए भारत की जीडीपी का अनुमान घटा दिया है। अंतरराष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज के मुताबिक, जीडीपी 5.8 फीसदी होगी, जो भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के अनुमान से भी कम है। पहले एजेंसी ने 6.8 फीसदी का अनुमान जताया था। इस संदर्भ में मूडीज ने कहा है कि, मार्च 2020 में समाप्त वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी 5.8 फीसदी पर आ सकती है। एजेंसी ने कहा कि पिछले सालों के मकाबले भारत की विकास दर कम रहेगी।

आरबीआई ने भी घटाया था अनुमान

बता दें कि बीते चार अक्‍टूबर को आरबीआई ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए जीडीपी का अनुमान 6.9 फीसदी से घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया था। वहीं, वित्त वर्ष 2020-21 के लिए जीडीपी का अनुमान 7.2 फीसदी कर दिया था। आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (MPC) की समीक्षा बैठक में यह फैसला लिया गया। इससे केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के पांच ट्रिलियन यानी 50 खरब इकोनॉमी बनने की कवायद को झटका लग सकता है।

अगर अर्थव्यवस्था में मंदी का दौर देखने को या फिर धीमी रफ्तार रहेगी तो इसका असर भविष्य में भी देखने को मिलेगा। फिलहाल, देश में कई सेक्टरों में उत्पादन लगभग ठप हो गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि लोग पुराने स्टॉक को भी नहीं खरीद रहे हैं। 50 खरब अर्थव्यवस्था बनाने के लिए विकास दर में तेजी रखने के लिए कोशिशों को जारी रखना होगा।


Spread the News