जानिए क्यों, एक पति ने रखा अपनी पत्नी को डेढ़ साल तक टायलेट में बंधक

 जानिए क्यों, एक पति ने रखा अपनी पत्नी को डेढ़ साल तक टायलेट में बंधक

 जानिए क्यों, एक पति ने रखा अपनी पत्नी को डेढ़ साल तक टायलेट में बंधक

पानीपत: ऐसा कहा जाता है की यदि कोई व्यक्ति बर्बता पर आ जाए तो क्या नही कर सकता। ऐसा ही एक मामला हरियाणा में सामने आया है जहां एक पति ने अपनी पत्नी को डेढ़ साल तक टायलेट में बंधक बना कर रखा। मामला हरियाणा के पानीपत जिले के रिशपुर गांव का है जहां रामरती नाम की महिला को उसके पति ने ढ़ साल तक टायलेट में बंधक बना कर रखा। रामरती को पुलिस ने उसके चचेरे भाई, किवाना निवासी विकास को सुपुर्द कर दिया। महिला आयोग, हरियाणा की कार्यवाहक चेयरपर्सन प्रीति भारद्वाज बुधवार शाम को पीडि़ता की सुध लेने पहुंचीं। महिला थाना की प्रभारी किरण नैन ने महिला का श्रृंगार किया। चेयरपर्सन ने भी चूडिय़ां पहनाई। हैरत, किसी ने उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाना उचित नहीं समझा।

अस्पताल से मेडिकल कराकर ही वापिस घर ले आई पुलिस

बंधनमुक्त कराई रामरती को सनौली थाना पुलिस मंगलवार को मेडिकल के लिए सिविल अस्पताल लेकर पहुंची थी। उसे भर्ती कराने के बजाय मेडिकल करा कर साथ ले गई। पुलिस ने बुधवार को उसे चचेरे भाई विकास के सुपुर्द कर दिया। वहीं आरोपित पति नरेश को कोर्ट में पेश किया गया, उसे कोर्ट से जमानत भी मिल गई।

महिला आयोग की अध्यक्ष प्रीति भारद्वाज ने की मुलाकात

बुधवार देर शाम राज्य महिला आयोग की कार्यकारी अध्यक्ष प्रीति भारद्वाज, महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी रजनी गुप्ता, सीडब्लयूसी चेयरपर्सन पदमा रानी, महिला थाना इंचार्ज किरण नैन व सनौली थाना प्रभारी सुरेंद्र ङ्क्षसह के साथ पीडि़ता से मिलने पहुंचीं।

सही नही थी मानसिक हालात

पीड़िता के चचेरे भाई सुनील ने बताया कि छोटा बच्चा होने के बाद रामरती की मानसिक हालात बिगड़ी थी। पीजीआइ में इलाज भी कराया था। उधर, तीनों बच्चों ने कहा कि पापा ने मां के साथ कभी मारपीट नहीं की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *