Sunday , January 23 2022

कानपुर में कोरोना से बढ़ रहा मौतों आंकड़ा, 56 मरीजों की मौत, बेड और ऑक्सीजन की किल्लत

कानपुर। उत्तर प्रदेश में कोरोना एक गंभीर रूप ले चुका है। यहां इसके संक्रमण से मरने वालों का आकंड़ा लगातार बढ़ रहा है। जिसका मुख्य कारण है यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था का ठीक न होना। प्रदेश में बेड और ऑक्सीजन की किल्लत है। ऐसे में मरीज अस्पताल और सड़कों पर दम तोड़ रहे हैं। इसी बीच यहां कानपुर जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां बुधवार को 56 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। जबकि सोमवार को 57 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं। एक तरफ शहर में मौत का मातम पसरा हुआ है तो दूसरी तरफ लापरवाही खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। कानपुर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में 34 वेंटिलेटर खराब पड़े हैं।

दरअसल यहां के हैलट अस्पताल को कोविड हॉस्पिटल में तब्दील किया गया है। जहां कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है, लेकिन कई मरीज अभी भी अस्पताल में बेड के लिए तरस रहे हैं। यहां के अधीक्षक डॉक्टर ज्योति सक्सेना का कहना है कि हॉस्पिटल में बेड तो है, लेकिन उन तक ऑक्सीजन लाइन नहीं है, बेड बढ़ा देंगे, लेकिन ऑक्सीजन कैसे पहुंचाएंगे? उनका कहना है कि हमारे यहां 120 कोविड वेंटिलेटर है, जिसमें 34 खराब हैं. इन वेंटिलेटर को सही कराने के लिए हैलट प्रशासन लगातार चिट्ठी लिख रहा है, लेकिन अभी तक जिले का कोई जिम्मेदार अधिकारी इस पर तुरंत संज्ञान लेता हुआ नहीं दिख रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × five =