आत्मनिर्भर भारत : अब SAI से सिक्योर होगी Indian Army

आत्मनिर्भर भारत : अब SAI से सिक्योर होगी Indian Army

नई दिल्ली : कोरोनाकाल में लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की आवाम से भारत को आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प लेने की बात कही थी। पीएम मोदी की इस बात का असर कुछ जगह देखने को भी मिला। भारतीय सेना ने भी अब आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत एक नया मेसेजिंग ऐप डिवेलप किया है।

मेसेजिंग ऐप्लिकेशन को लॉन्च

भारतीय सेना ने जिस मेसेजिंग ऐप्लिकेशन को लॉन्च किया है वो व्हाट्स एप और टेलीग्राम जैसा ही है, लेकिन इन एप्स के बनिस्पत कहीं ज्यादा सिक्योर है, इसीलिए भारतीय सेना द्वारा लॉन्च किए गए मेसेजिंग ऐप्लिकेशन का नाम Secure Application for the Internet यानी SAI रखा गया है। दरअसल ये ऐप इंटरनेट के जरिए ऐंड्रॉयड प्लैटफॉर्म पर ऐंड-टू-ऐंड सिक्यॉर वॉइस, टेक्स्ट और विडियो कॉलिंग सर्विस सपॉर्ट करता है।

अभी इस ऐप को एंड्रॉयड यूजर्स के लिए तैयार किया गया है लेकिन अभी इसे गूगल प्लेस्टोर पर उपलब्ध नहीं करवाया गया है, आने वाले समय में इसे iOS प्लैटफॉर्म पर चालू किया जाएगा। चलिए अब आपको बताते हैं कि आखिर ये SAI एप काम कैसे करता है। वॉट्सऐप की तरह इस ऐप में भी एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन फीचर दिया गया है और इसके जरिए भी वॉयस, टेक्स्ट मैसेज और वीडियो कॉलिंग की जा सकती है। रक्षा मंत्रालय ने इसको लेकर बयान जारी करते हुए बताया कि यह ऐप WhatsApp, Telegram, SAMVAD और GIMS जैसा ही है और इसमें भी चैटिंग को सिक्योर करने के लिए सभी तरह के प्रोटोकॉल को फॉलो किया गया है।

आईओएस प्लेटफॉर्म पर काम करने की प्रक्रिया जारी

SAI ऐप में लोकल इन-हाउस सर्वर्स और कोडिंग के जरिए सिक्योरिटी फीचर्स दिए गए हैं। इन फीचर्स को जरूरत के मुताबिक बदला जा सकता है। इस ऐप को कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पांस टीम आफ इंडिया यानी (सीईआरटी-इन) और आर्मी साइबर ग्रुप द्वारा अच्छी तरह से तरीके से जांचा गया है।

SAI ऐप की इंटीलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट (आईपीआर) दाखिल करने की प्रक्रिया, एनआईसी पर आधारभूत ढांचे की मेजबानी और आईओएस प्लेटफॉर्म पर काम करने की प्रक्रिया अभी जारी है। इस ऐप का इस्तेमाल पूरी सेना द्वारा किया जाएगा जिससे सिक्योर्ड मैसेजेस भेजा जा सकेंगे। बता दें कि इस ऐप को SAI नाम कर्नल शंकर साई के नाम पर दिया गया है, जिन्होंने इसे बनाया है। आपको याद होगा कि इसी वर्ष जुलाई में भारतीय सेना ने सुरक्षा को मद्देनजर अपने जवानों और कर्मचारियों के फोन से 89 ऐप्स को डिलीट करने के लिए कहा था, जिसमें फेसबुक, इंस्टाग्राम जैसे ऐप्स भी शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *