कोरोना की पाबंदियों के बीच गणेश चतुर्थी उत्सव शुरू, शहर में पसरा सन्नाटा

कोरोना की पाबंदियों के बीच गणेश चतुर्थी उत्सव शुरू, शहर में पसरा सन्नाटा

कोरोना की पाबंदियों के बीच गणेश चतुर्थी उत्सव शुरू, शहर में पसरा सन्नाटा

Spread the News

मुंबई : कोरोना महामारी और लोगों के आवागमन पर जारी प्रतिबंधों के बीच मुंबई एवं महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों में शनिवार को 10 दिवसीय गणेश चतुर्थी उत्सव की शुरुआत हुई। हालांकि, इस साल पारंपरिक धूमधाम नजर नहीं आ रहा है। महाराष्ट्र सरकार ने गणेशोत्सव के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किये हैं और कहा है कि भगवान गणेश की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा और इसके विसर्जन से पहले किसी प्रकार का जुलूस नहीं निकाला जाना चाहिये। दिशा-निर्देश में कहा गया है कि इस साल सार्वजनिक पंडालों में और घरों में आयोजित होने वाली इस पूजा में भगवान गणेश की प्रतिमा की उंचाई को सीमित कर दिया गया है।

पंडालों के लिए प्रतिमा की ऊंचाई अधिकतम चार फुट और घरों पर स्थापना के लिए अधिकतम दो फुट होनी चाहिए। इसके परिणाम स्वरूप घरों में, हाउसिंग सोसाइटियों में और सार्वजनिक पंडालों में गणपति की प्राण प्रतिष्ठा के लिये प्रतिमा खरीदने वाले लोगों की संख्या सीमित रही। महामारी के कारण इस साल इस उत्सव को लेकर उत्साह अपेक्षाकृत कम है। उत्सव को सीमित किये जाने के कारण छोटे कारोबारों पर इसका असर हुआ है। इनमें फूल विक्रेता, मिठाई की दुकान, सजावट के सामान की दुकानें, आभूषणों की दुकानें एवं ट्रांसपोर्टर आदि शामिल हैं। इस महामारी ने कई अन्य लोगों को भी प्रभावित किया है जिनमें कलाकार भी शामिल हैं।

लालबागचा राजा में इस बार उत्सव नहीं

मुंबई में लोकप्रिय सावर्जनिक गणेशोत्सव मंडल लालबागचा राजा ने इस साल महामारी को देखते हुये उत्सव को रद्द कर दिया है। वडाला की जीएसबी सेवा समिति ने पूजा को अगले साल फरवरी में मेघ शुद्ध चतुर्थी तक के लिये टाल दिया है। जीएसवी सेवा समिति को मुंबई की सबसे धनी समितियों में गिना जाता है। इस साल महामारी के कारण पंडाल की सजावट हर बार की तरह देखने को नहीं मिल रही है और सांस्कृतिक कार्यक्रम की जगह जन जागरूकता कार्यक्रम और स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।

मुंबई एवं पास पड़ोस के क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है। शनिवार की सुबह को भी बारिश जारी रही लेकिन लोग गणपति बाप्पा मोरया के जयघोष के बीच गणपति की प्रतिमा लेने के लिये बाहर निकले। कुछ इलाकों में भगवान का स्वागत करने के लिये आतिशबाजी चलाई गयी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी अपने सरकारी आवास वर्षा में भगवान गणेश का स्वागत किया। कुछ सेलिब्रिटीज एवं राजनेताओं ने भी अपने-अपने घरों में भगवान गणेश की प्रतिमा की स्थापना की। भगवान की प्राण प्रतिष्ठा आज सुबह परंपरागत तरीके से की गयी।


Spread the News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *