क्या निलंबित IPS अजय पाल और हिमांशु कुमार पर दर्ज होगी FIR, जानिए क्या है पूरा मामला

क्या निलंबित IPS अजय पाल और हिमांशु कुमार पर दर्ज होगी FIR, जानिए क्या है पूरा मामला

क्या निलंबित IPS अजय पाल और हिमांशु कुमार पर दर्ज होगी FIR, जानिए क्या है पूरा मामला

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में गंभीर आरूपों से घिरे आइपीएस अधिकारी अजय पाल शर्मा और आइपीएस हिमांशु कुमार पर जीरो टॉलरेंस (Zero Tolerance) की कार्रवाई की जा रही है. केन्द्रीय सतर्कता आयोग (Central Vigilance Commission) ने भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों से घिरे दोनों आईपीएस अधिकारी डॉ.अजय पाल शर्मा और हिमांशु कुमार के खिलाफ जांच पूरी कर रिपोर्ट शासन को सौंप दी है. विजिलेंस के सूत्रों के अनुसार दोनों अधिकारीयों पर लगे आरोपों की जांच के बाद शासन से एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश की जा रही है.

दरअसल नोएडा के पूर्व गौतमबुद्धनगर एसएसपी वैभव कृष्णा का एक आपत्तिजनक वीडियो वायरल हुआ था, जिसके बाद उन्हें पद से हटा दिया गया था. उन्होंने दोनों पर अपराधियों से सांठ-गांठ व भ्रष्टाचार जैसे संगीन आरोप लगाए थे. साथ ही डीजीपी को पत्र लिख अजय पाल और हिंमाशु कुमार के खिलाफ उन्हें फ़साने और ट्रांसफर-पोस्टिंग के नाम पर धन उगाही का भी आरोप लगाया था. आरोपों की जांच के लिए डायरेक्टर विजिलेंस के नेतृत्व में एसआईटी (Special Investigation Team) का गठन किया गया. जिसके बाद दिसम्बर 2019 में एसआईटी ने रिपोर्ट मिलने के बाद शासन ने विजिलेंस को जांच के आदेश दिए. शासनादेश के बाद विजिलेंस ने जांच शुरू कर तथ्यों को जुटाने शुरू किए.

इसके अलावा आइपीएस अजय पाल शर्मा पर उनकी पत्नी दीप्ती शर्मा (पेशे से वकील) ने भी उत्पीड़न व झूठे मुकदमों में फ़साने के आरोप लगाए थे. साल 2016 में अजय पाल शर्मा के साथ हुई उनकी शादी गाजियाबाद में रजिस्टर्ड हुई थी. उस वक्त वे दिल्ली के हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस कर रही थी. जिसके बाद कुछ बातों को लेकर उनके रिश्ते खराब हो गए थे. इस संबंध में उन्होंने महिला आयोग, पुलिस विभाग, हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में शिकायत भी की थी. शिकायती पत्रों के साथ उन्होंने शादी के सबूत भी लगाए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *