मोदी के मंत्री के इस्तीफे के बाद किसान ने खाया जहर, जानिए क्यों हो रहा कृषि बिल का विरोध

मंत्री ने पद से दिया इस्तीफा, तो किसान ने खाया जहर, जानिए क्यों हो रहा कृषि बिल का विरोध

मंत्री ने पद से दिया इस्तीफा, तो किसान ने खाया जहर, जानिए क्यों हो रहा कृषि बिल का विरोध

नई दिल्ली :  लोकसभा में गुरूवार को विपक्ष द्वारा विरोध के बावजूद दो कृषि विदेयक को कई घंटों की चर्चा के बाद मंजूरी दे दी गई. जिसमें कृषि विधेयकों ‘कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020’ और ‘कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020’ शामिल हैं. वहीँ इससे सम्बंधित आवश्यक वस्तु (संशोधन) अध्यादेश, 2020 को मंगलवार को ही मंजूरी मिल गई थी.

बादल के घर के बाहर जहर खाया
जहां एक तरफ इन विधेयकों को लेकर मोदी कैबिनेट से शिरोमणि अकाली दल की मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने मंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया, वहीँ दूसरी तरफ प्रदर्शन पर बैठे एक किसान ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के घर के बाहर जहर खा लिया.

मंत्री ने पद से दिया इस्तीफ़ा, तो किसान ने खाया जहर, जानिए क्यों हो रहा कृषि बिल का विरोध

मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने मंत्री पद से इस्तीफ़ा देते हुए ट्वीट किया है, “मैंने केंद्रीय मंत्री पद से किसान विरोधी अध्यादेशों और बिल के ख़िलाफ़ इस्तीफ़ा दे दिया है. किसानों की बेटी और बहन के रूप में उनके साथ खड़े होने पर गर्व है.”

मिली जानकारी के अनुसार प्रदर्शन में बैठे मानस के अकाली गांव के रहने वाले प्रीतम सिंह नामक किसान ने शुक्रवार सुबह 6 बजे के आस-पास जहर का सेवन किया. जिसके बाद उन्हें सरकारी अस्पताल में एडमिट कराया गया. हालत गंभीर होने के बाद उन्हें बठिंडा के मैक्स हॉस्पिटल में लाया गया है. उसकी हालत गंभीर बनी हुई है.

दरअसल इन विधेयकों को लेकर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने लोकसभा में कहा कि नए विधेयक किसान विरोधी नहीं हैं और ये किसानों को उनकी उपज का बेहतर मूल्य दिलाएंगे. जहां भाजपा इन बिलों को किसानों के लिए फायेदेमंद बता रही है वहीं, विपक्षी दलों ने इन विधेयकों को छोटे किसानों के लिए हानिकारक बताते हुए बिलों को जांच के लिए स्थाई समिति को भेजे जाने की मांग की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *