31 मार्च से पहले कर लें ये 5 काम

अगर आप भी सरकारी योजनाओं का फायदा उठाकर और टैक्स सेविंग ऑप्शन में निवेश कर लाखों रुपये बचाना चाहते हैं, तो आपके पास 31 मार्च 2020 तक का ही समय है। प्रधानमंत्री आवास योजना स्कीम (PMAY) और प्रधानमंत्री व्यवंदन योजना (PMVVY) का लाभ उठाने और निवेश करने के लिए मार्च के आखिर तक का ही समय है। दूसरी तरफ, वित्त वर्ष 2019-20 के लिए टैक्स में छूट पाने के लिए 31 मार्च तक निवेश कर सकते हैं। अगर टैक्स बचाने के लिए तय समय तक निवेश नहीं करते तो आपको लाखों रुपये का नुकसान हो सकता है।

प्रधानमंत्री आवास योजना स्कीम (PMAY)

अगर आप अपना घर लेने की योजना बना रहे हैं तो प्रधानमंत्री आवास योजना के जरिए होम लोन पर सब्सिडी का फायदा उठा सकते हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना का फायदा उठाकर होम लोन पर करीब 2.50 लाख रुपए बचा सकते हैं। पहले यह योजना का लाभ गरीब वर्ग के लिए था वहीं अब इस योजना में लोन की रकम बढ़ाकर शहरी गरीब और मध्यम वर्ग को भी दायरे में लाया गया है।

प्रधानमंत्री आवास योजना स्कीम का फायदा उठाने के लिए 31 मार्च 2020 तक का ही समय है। नियमों के तहत प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ उठाने के लिए मध्यम वर्ग (MIG) के लिए दो श्रेणी बनाई गई है। इसमें 6 लाख रुपए से लेकर 12 लाख रुपए तक की पहली केटेगरी है जबकि दूसरी केटेगरी 12 लाख रुपए से 18 लाख रुपए की है।

– 12 लाख प्रतिवर्ष की आय वाले लोगों को 9 लाख रुपए तक लोन मिलेगा जिसमें ब्याज दर पर 4 फीसदी की सब्सिडी मिलेगी जो करीब 2.35 लाख रुपये होगी।
– यदि आपकी सालाना आय 12 से 18 लाख रुपए के बीच है तो आपको 12 लाख रुपए तक के लोन पर ब्याज दरों में 3 फीसदी की छूट मिलेगी। यह सब्सिडी करीब 2.30 लाख रुपये होगी।
– 6 लाख रुपए की सालाना आय वालों को 6 लाख रुपए तक का होम लोन मिल सकता है और ब्याज दर पर सरकार की तरफ से 6.5 फीसदी की सब्सिडी यानी करीब 2.67 लाख रुपये बच जाएंगे।
– जो लोग घर खरीदने की बजाय इसे खुद बनवा रहे हैं, वह भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

प्रधानमंत्री व्यवंदन योजना
फिक्सड डिपोडिट (FD) पर लगातार कम हो रहे ब्याज के कारण सीनियर सिटीजन प्रधानमंत्री व्यवंदन योजना (PMVVY) में निवेश करना बेहतर विकल्प मान रहे हैं। ये योजना सीनियर सिटीजन के लिए ही है। इसमें तय ब्याज के मुताबिक 10 साल तक पेंशन मिलती है। इस पर मिलने वाला ब्याज करीब 8 से 8.3 फीसदी तक रहता है। हालांकि, अभी एसबीआई बैंक 6.75 फीसदी की दर से 10 साल के लिए ब्याज दे रहा है। इस योजना के तहत सीनियर सिटीजन 15 लाख रुपये तक निवेश कर सकते हैं। इस योजना में निवेश करने वाले लोगों के लिए 31 मार्च तक का समय है क्योंकि ये स्कीम तभी तक के लिए खुली है।

2018-19 की आयकर रिटर्न 

आप भी 2018-19 की आयकर रिटर्न (ITR) 31 अगस्त तक रिटर्न फाइल करने से चूक गए। तो आप 31 मार्च 2020 तक रिटर्न फाइल कर सकते हैं लेकिन आपको 10,000 रुपये की पेनल्टी भरनी होगी। अगर आपने 31 दिसंबर से पहले रिटर्न फाइल की होती तो तब आपको 5,000 रुपये पेनल्टी के तौर पर देना होता। अगर आईटीआर भरते समय कोई गलती कर दी और आप इसे रिवाइज करना चाहते हैं तो 31 मार्च 2020 तक कर सकते हैं। आप 31 मार्च के बाद आईटीआर रिवाइज नहीं कर सकते।

टैक्स छूट के लिए सेविंग 
टैक्सपेयर्स के पास 2019-20 के लिए टैक्स बचाने के लिए 31 मार्च 2020 तक का ही समय है। टैक्स बचाने के लिए टैक्स सेविंग स्कीम में निवेश करना होगा। टैक्स बचाने के लिए 1.50 लाख रुपये तक सेविंग कर सकते हैं। आईटीआर (ITR) फाइलिंग के लिए जरूरी है कि आप 31 मार्च निवेश कर लें। कर्मचारियों के ऑफिसों में एचआर टैक्स सेविंग के लिए इन्वेस्टमेंट प्रूफ मांग रहे हैं। अगर आप इन्वेस्टमेंट प्रूफ जमा नहीं करते तो फरवरी मार्च में आपकी सैलरी भी कट सकती है।

आधार-पैन कार्ड लिंकिंग 

आधार और पैन कार्ड को लिंक कराने की समयसीमा 31 मार्च 2020 तक के लिए बढ़ा दी गई है। इससे पहले यह समयसीमा 31 दिसंबर थी। अगर आप 31 मार्च 2020 तक आधार और पैन को लिंक नहीं करते तो यह ऑपरेटिव नहीं रहेगा।