बड़ा खुलासा: केरल के इस मामले में आया दाऊद की डी-कंपनी का नाम, एनआइए कर रही है जांच

बड़ा खुलासा: केरल के इस मामले में आया दाऊद की डी-कंपनी का नाम, एनआइए कर रही है जांच

बड़ा खुलासा: केरल के इस मामले में आया दाऊद की डी-कंपनी का नाम, एनआइए कर रही है जांच

कोच्चि: केरल के सोना तस्करी मामले में आतंकी संपर्कों की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने यहां एक विशेष अदालत में संकेत दिए कि उसे संबंधित रैकेट में माफिया दाऊद इब्राहीम के गिरोह के शामिल होने का संदेह है।

एजेंसी ने किया आरोपियों की जमानत विरोध

एनआइए ने अदालत में कहा कि सोने की तस्करी से मिलने वाले मुनाफे का इस्तेमाल राष्ट्रविरोधी गतिविधियों और आतंकी कृत्यों में होने की संभावना संबंधी खुफिया जानकारी है। इसने कहा कि मामले में जांच को आगे बढ़ाने के लिए 180 दिन तक सभी आरोपियों को न्यायिक हिरासत में रखा जाना अत्यंत आवश्यक है। एजेंसी ने सभी आरोपियों की जमानत याचिकाओं का विरोध किया।

प्रमुख आरोपित स्वप्ना सुरेश को मिली थी जमानत

सोना तस्करी मामले की प्रमुख आरोपित स्वप्ना सुरेश को मनी लांड्रिंग मामले में जमानत मिल गई है। लेकिन फिलहाल वह अभी जेल में ही रहेगी, क्योंकि सोना तस्करी से संबंधित अन्य मामलों में भी उसे गिरफ्तार किया गया था। एनआइए ने उसके खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम का भी प्रयोग किया है। कोर्ट ने स्वप्ना की जमानत अर्जी पर पिछले सप्ताह फैसला सुरक्षित रख लिया था। उसे सीमा शुल्क विभाग द्वारा की जा रही जांच से संबंधित मामले में भी जमानत मिल चुकी है। सीमा शुल्क ने 60 दिनों की निर्धारित समयसीमा के भीतर अंतिम रिपोर्ट दाखिल नहीं कराई जिस कारण उसे जमानत मिल गई।

बता दें कि राजनयिक चैनल से राज्य में हो रही सोना तस्करी की जांच में एनआइए, ईडी और सीमा शुल्क विभाग जुटा है। तिरुअनंतपुरम में पांच जुलाई को सीमा शुल्क द्वारा राजनयिक सामान में लगभग 14.42 करोड़ रुपये का 30 किलो सोना पकड़े जाने के बाद यह मामला सामने आया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *