गुलनाज मामला का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, राहुल बोले चुनावी फाएदे के लिए जुर्म छुपाया

गुलनाज मामले का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, राहुल बोले चुनावी फायदे के लिए जुर्म छुपाया

गुलनाज मामले का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, राहुल बोले चुनावी फायदे के लिए जुर्म छुपाया

हाजीपुर : बिहार में एक बार फिर नई नवेली सरकार बनी है और मुख्यमंत्री एक बार फिर नीतीश कुमार बने हैं नीतीश कुमार इस बार बिहार में 7वीं बार सत्ता के सिंघासन पर विराजमान हुए हैं और इसी के साथ राजनीति का भी आगाज़ हो चुका है कल नीतीश कुमार ने सीएम पद की शपथ ली और 24 घंटे के अन्दर ही राहुल गांधी ने सुशासन बाबू की राजनीति में दाग दा फायर कर दिया

दरअसल, बिहार के हाजीपुर में करीब 15 दिन पहले 20 साल की एक युवती को छेड़खानी का विरोध करने पर दरिंदों ने जिंदा जला दिया था और अब उस युवती की मौत हो चुकी है बस इसी मामले को लेकर राहुल गांधी ने अब नीतीश सरकार को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है. हालांकि 15 दिन बाद अस्पातल में भर्ती युवती जिंदगी की जंग हार गई और पुलिस ने भी 15 दिन बीत जाने के बाद अब इस मामले में पहली गिरफ्तारी की है

राहुल ने किया नितीश सरकार पर वार

राहुल गांधी ने इस मामले को लेकर नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए ट्विटर पर लिखा कि किसका अपराध ज़्यादा ख़तरनाक है- जिसने ये अमानवीय कर्म किया? या जिसने चुनावी फ़ायदे के लिए इसे छुपाया ताकि इस कुशासन पर अपने झूठे ‘सुशासन’ की नींव रख सके?

जिस समय ये पूरी घटना हुई उस समय बिहार में चुनावी सरगर्मियां थीं, और इन्हीं चुनावी शोर में पीड़िता के दर्द को मौन कर दिया गया. अलबत्ता अब बिहार में नई सरकार के गठन के बाद चुनावी शोर थम चुका है और अफ़सोस इसी चुनावी मौन में पीड़िता की आवाज़ भी हमेशा हमेशा के लिए थम चुकी है

लेकिन बिहार पुलिस भी पीड़िता की मौत के बाद अब जागी है पुलिस ने अपना नाम सुशासन बाबू की गुड बुक में दर्ज कराने के लिए अब एफआईआर में नामजद मुख्य आरोपी चंदन राय को गिरफ्तार किया है. वहीँ बाकी के बचे हुए दो आरोपियों की तलाश में पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है. हालांकि इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में एक एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है. दूसरी ओर पुलिस के आश्वासन के बाद पीड़िता के परिवार ने युवती का अंतिम संस्कार कर दिया.

शादी के चक्कर में करता था परेशान

वहीँ, इस मामले में मृतक युवती के परिजनों को कहना है कि सतीश घटना में मुख्य आरोपित है जबकि विजय राय और चंदन ने उसका साथ दिया है. परिजनों का आरोप है कि सतीश युवती से जबरन शादी करना चाहता था. इसी के चक्कर में बार-बार वह ल़ड़की के साथ छेड़खानी भी करता था. घटना के बाद ही पुलिस को सूचना दे दी गई थी और मुकदमा भी दर्ज हो गया था लेकिन इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई और नतीजा ये रहा कि अब युवती इस दुनिया में नहीं रही.

बिहार में विपक्ष ने इस मामले में लेकर नितीश सरकार पर पहले दिन से ही हमला कर दिया है लेकिन अब देखना होगा कि सुशासन बाबू बिहार में क्राइम के कुशासन से कैसे अपनी नैया पार लगा पाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *