पंचायत भवन अब ग्राम सचिवालय के रूप में काम करेंगे : सीएम योगी

पंचायत भवन अब ग्राम सचिवालय के रूप में काम करेंगे : सीएम योगी

पंचायत भवन अब ग्राम सचिवालय के रूप में काम करेंगे : सीएम योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में ग्राम पंचायतों के चुनाव से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को राज्य की ग्राम पंचायतों को बड़ा तोहफा दिया। सीएम ने ग्राम स्वराज्य अभियान/ वित्त आयोग, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) व मनरेगा के अंतर्गत बने 18,847 सामुदायिक शौचालयों व 377 पंचायत भवनों का लोकार्पण एवं ई-शिलान्यास किया। सीएम ने केंद्रीय 35,058 सामुदायिक शौचालयों व 21,414 पंचायत भवनों का वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शिलान्यास किया। इसके अलावा सीएम योगी ने सभी ग्राम पंचायतों के पंचायत भवनों को आप्टिकल फाइबर से जोड़ने का ऐलान किया।

नियमित साफ-सफाई हो इसके लिए होगा महिलाओं का चयन

इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि जहां पर सामुदायिक शौचालय निर्मित हो चुके हैं, वहां महिला स्वयंसेवी समूह में से किसी एक महिला का चयन कर बतौर वेतन 6 हजार रुपए देने की व्यवस्था की जाए, जिससे इन सामुदायिक शौचालयों में नियमित साफ-सफाई हो सके। उन्होंने कहा कि मैं विश्वास दिलाता हूं कि प्रदेश में जिन 21,414 पंचायत भवनों और 35,058 शौचालयों का आज शिलान्यास हो रहा है, यह सभी कार्य एक समय सीमा के अंदर कार्य की गुणवत्ता को बनाए रखते हुए संपन्न होंगे। बुंदेलखंड में हर घर नल योजना युद्धस्तर पर चल रही है। विंध्य क्षेत्र के लिए भी हमारी कार्ययोजना तैयार हो चुकी है। विंध्य क्षेत्र की पाइप पेयजल योजना का भी शीघ्र ही शिलान्यास किया जाएगा।

सीएम ने कहा कि मैं आश्वस्त करता हूं कि प्रदेश में हर आंगनबाड़ी और स्कूल में अगले 100 दिन के अंदर शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए व्यापक कार्ययोजना बना ली गई है। हर विद्यालय में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के लिए कार्यक्रम प्रारंभ हो चुके हैं। महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण दिए जाने की मांग लगातार उठती रही है और पंचायतों में आरक्षण दिया भी गया है। उत्तर प्रदेश में 33 फीसदी नहीं 43 फीसदी महिला ग्राम प्रधान हैं, जो प्रदेश में महिलाओं की प्रगतिशील सोच को दर्शाती हैं। हम प्रदेश की सभी ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने जा रहे हैं। पंचायत भवन अब ग्राम सचिवालय के रूप में काम करेंगे। इनके माध्यम से गांव में ही आय, जाति व मूल निवास प्रमाण के साथ ही बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंट सखी के रूप में महिलाओं को रोजगार मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *