सत्ता पक्ष पर भड़के CM केजरीवाल, बोले – सरकार के लिए शर्म की बात

सत्ता पक्ष पर भड़के CM केजरीवाल, बोले - सरकार के लिए शर्म की बात

नई दिल्ली : हाथरस की घटना को लेकर देशभर में लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है. हाथरस की बेटी के साथ हुए इस कृत्य को सुनकर रूह दहल जाती है. वहीँ रात के अंधेरे में बिना घरवालों की उपस्तिथि के उसका अंतिम संस्कार कराए जाने पर लोग सरकार पर सवाल उठा रहें हैं.हालांकि, अब इस घटना ने सियासी मोड़ ले लिया है.

धर्म और रीति के खिलाफ किया अंतिम संस्कार

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस मामले को लेकर कहा “कुछ लोगों ने हमारी हाथरस की बेटी के साथ ये अमानवीय कृत्य किया, उसके साथ बलात्कार हुआ और फिर उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई, आखिर में उस बेचारी की जान चली गई. उन्होंने ने कहा कि एक तरफ़ तो उन दरिंदों ने उस लड़की के साथ ये कृत्य कर उसकी जान ले ली. दूसरी तरफ़ सत्तापक्ष ने जो व्यवहार किया उस बच्ची के साथ, उस परिवार के साथ. हिन्दू धर्म में कहते हैं कि रात में चिता को अग्नि नहीं दी जाती है, लेकिन उसको रात को ही जला दिया गया. धर्म के और हमारी रीति के खिलाफ़ उसके परिवार को दर्शन नहीं करने दिए. उसके परिवार से बच्ची को छीन लिया गया.

समाज, देश और सभी सरकारों के लिए शर्म की बात

उन्होंने कहा कि “हाथरस की पीड़िता की मौत पूरे समाज, देश और सभी सरकारों के लिए शर्म की बात है. बड़े दुःख की बात है कि इतनी बेटियों के साथ दुष्कर्म हो रहे हैं और हम अपनी बेटियों को सुरक्षा नहीं दे पा रहे. दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा मिलनी चाहिए.”

वहीँ सत्तापक्ष पर आरोप लगते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा “जिस तरह से सत्तापक्ष हाथरस पीड़िता और उसके परिवार वालों के साथ व्यवहार किया वो बेहद ग़लत है. हम जनतंत्र में रहते हैं और सत्ता में बैठे लोगों को ये भूलना नहीं चाहिए कि वो इस देश के मालिक नहीं है बल्कि जनता के सेवक हैं. हाथरस की जो घटना हुयी है वो बहुत ज्यादा पीड़ादायी है. समाज के अंदर विकृति फैलती जा रही है.”

बता दें कि बुधवार को सीएम केजरीवाल ने लिखा था ”हाथरस की पीडिता का पहले कुछ वहशियों ने बलात्कार किया और कल पूरे सिस्टम ने बलात्कार किया. पूरा प्रकरण बेहद पीड़ादायी है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *