उत्तराखंड के चमोली में बादल फटने से तबाही का मंजर, सात झोपड़ियां बह गईं

Lucknow. उत्तराखंड के चमोली ज़िले के पांगती गांव में बादल फटने से तबाही के मंजर देखने को मिले। यहां के नारायणबगड़ में तड़के बादल फटने की घटना में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के मजदूरों की करीब सात झोपड़ियां बह गईं हैं। चमोली के डीएम हिमांशु खुराना ने बताया कि तेज़ बारिश के कारण सीमा सड़क संगठन (BRO) के मज़दूर के 6 झोपड़ियों पर मलबा गिर गया जिसकी वजह से 2-3 लोगों को हल्की चोटें आईं। मलबा निकालने का काम BRO और स्थानीय प्रशासन द्वारा किया जा रहा है। मज़दूरों को मुआवज़ा दिया जाएगा।

वहीं, इस घटना को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने संज्ञान में लिया है। उन्होंने कहा, स्थानीय प्रशासन राहत बचाव कार्य कर रहा है। बादल फटने की घटना से कोई जनहानि नहीं हुई है।

प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक, कई दोपहिया वाहन व कार भी मलबे में दबे हुए हैं। प्रशासन मौके पर पहुंच गया है। बचाव व राहत के कार्य शुरू कर दिए गए हैं। मजदूरों और उनके बच्चों को गांव के लोगों ने अपने घरों में सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *