बिना इंटरनेट के बीतेगा क्रिसमस, लखनऊ में बढ़ाई गई इंटरनेट की पाबंदी

23 दिसंबर की रात 12 बजे से इंटरनेट सेवा खुलने की उम्मीद धूमिल हो गई। नेट को फिलहाल 25 दिसंबर की शाम आठ बजे तक बंद रखने का फैसला लिया गया है। डीएम अभिषेक प्रकाश ने बताया कि यह फैसला कानून व्यवस्था को देखते हुए लिया गया है। निजी दूरसंचार एजेंसियों की ओर से भी रात 11 बजे फोन पर एसएमएस जारी कर दिए गए कि सरकार के निर्देशानुसार अगली सूचना तक इंटरनेट सेवाएं बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं।बता दें कि लखनऊ में नेट की सेवाएं 19 दिसंबर को शहर में कई क्षेत्रों में बवाल व आगजनी के बाद शाम आठ बजे से बंद चल रही हैं।

इससे पहले सोमवार रात 12 बजे से कई ऑपरेटर ने इंटरनेट सेवा शुरू कर दी थी लेकिन मंगलवार सुबह मोबाइल से इंटरनेट नेटवर्क एक बार फिर गायब हो गए तो लोग मायूस होने लगे। लखनऊ के अलावा बुलंदशहर, संभल, मुजफ्फरनगर में भी आज सुबह 10 बजे 25 दिसंबर की रात 8 बजे तक मोबाइल इंटरनेट बंद रहेगा। वहीं कानपुर में इंटरनेट सेवाएं शुरू हो गई हैं, हालांकि स्कूल-कॉलेज फिलहाल बंद हैं।

बिजली उपभोक्ता परेशान हलकान
शहर में चार दिन से इंटरनेट बंद होने से हजारों बिजली उपभोक्ताओं को परेशानी झेलनी पड़ रही है। जो लोग घर बैठे बिजली बिल जमा कर लेते थे, उन्हें भी इसके लिए उपकेंद्रों पर कतार में लगना पड़ रहा है। यही नहीं, मेसेज सुविधा बंद रहने के दौरान बिलिंग भी प्रभावित है। स्मार्ट मीटर वाले उपभोक्ताओं के मोबाइल पर बिल की जानकारी भी नहीं पहुंच रही है।

ऑनलाइन बिल नहीं जमा करा पा रहे लोग
लेसा इंजिनियरों के मुताबिक, शहर में करीब करीब तीन लाख उपभोक्ता ऑनलाइन ही बिल जमा करते हैं। इनमें आधे ऐसे हैं, जिनकी बिल जमा करने की आखिरी तारीख महीने के दूसरे और तीसरे हफ्ते में होती है। ऐसे में पिछले चार दिन से इंटरनेट बंद होने से ऐसे उपभोक्ता ऑनलाइन बिल नहीं जमा कर सके। यही कारण है कि रविवार के बाद सोमवार को कई उपकेंद्रों पर बिल जमा करने वालों की लंबी कतार लगी रही।