घर के बहार कूड़ा मिलने पर हो सकता है चालान, वसूला जाएगा जुर्माना

घर के बहार कूड़ा मिलने पर हो सकता है चालान, वसूला जाएगा जुर्माना

घर के बहार कूड़ा मिलने पर हो सकता है चालान, वसूला जाएगा जुर्माना

नई दिल्ली : स्वछता सर्वेक्षण में पहला पाएदान हासिल करने के लिए नई दिल्ली तैयारी कि तैयारियां शुरू हो गई हैं. नगर पालिका परिषद (New Delhi Municipal Council) ने सभी विभागीय स्तर पर तैयारियों के साथ ही प्रत्येक नागरिक से भी रेटिंग में सुधार के लिए सहयोग मांगा है. इसी कड़ी में एनडीएमसी चेयरमैन धर्मेंद्र ने अपने इलाके की रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन (Resident Welfare Association) और मार्केट एसोसिएशन को दिशा-निर्देश जारी किए है.

इसमें चेयरमैन ने नागरिकों से स्वच्छता सर्वेक्षण में सहयोग करने की अपील की है. साथ ही बताया है कि अगर गंदगी पाई जाती है तो एनडीएमसी 500 से लेकर 10 हजार रुपये तक के चालान की कार्रवाई करेगी. धर्मेंद्र ने बताया कि सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट में गंदगी फैलाने पर हर बार 200 रुपये के चालान का प्रावधान हैं इसी तरह अगर घर के बाहर गंदगी पाई जाती है तो 500 रुपये के चालान का प्रावधान है.

वहीँ यदि रेजीडेंस वेलफेयर एसोसिएशन गीला व सूखा कूड़ा अलग-अलग नहीं उपलब्ध कराती है तो उस पर दस हजार रुपये प्रति माह का जुर्माना है. उल्लेखनीय है कि दिल्ली में नई दिल्ली नगर पालिका परिषद इस वर्ष के स्वच्छता सर्वेक्षण में सबसे स्वच्छ शहर का दर्जा मिला तो वहीं दस लाख तक की आबादी की श्रेणी में एनडीएमसी ने तीसरा स्थान देशभर में पाया था.

वहीँ अगर स्टार रेटिंग कि बात करे तो जहां बीते वर्ष एनडीएमसी को तीन रेटिंग मिली थी इस साथ फाइव आउट ऑफ़ फाइव स्टार पाने कि कोशिश है. जिसे लेकर एनडीएमसी अभी से तैयारी कर रहा है. इसके लिए एनडीएमसी ने अलग-अलग जगहों पर स्मार्ट कूड़ेदान लगाए हैं. साथ ही गीला व सूखा कूड़ा अलग-अलग एकत्रित करने के लिए वाहनों लगाए गए हैं. इन वाहनों की निगरानी के लिए प्रत्येक वाहन को जीपीएस से लैस किया गया है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *