FAKE-TRP पर BARC ने लिया बड़ा एक्शन, न्‍यूज चैनलों की रेटिंग्स पर लगी रोक

FAKE-TRP पर BARC ने लिया बड़ा एक्शन, न्‍यूज चैनलों की रेटिंग्स पर लगी रोक

`FAKE-TRP पर BARC ने लिया बड़ा एक्शन, न्‍यूज चैनलों की रेटिंग्स पर लगी रोक

नई दिल्ली: फर्जी TRP को लेकर चल रहे विवाद के बीच रेटिंग एजेंसी ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल ने बड़ा एक्शन लिया है। BARC ने न्‍यूज चैनलों की साप्‍ताहिक जारी होने वाली रेटिंग पर फिलहाल रोक लगा दी है। ये रोक अस्थायी तौर पर सभी भाषाओं में समाचार चैनलों की रेटिंग पर 12 सप्ताह तक लगाई गई है। बार्क की तरफ से कहा गया है कि टीआरपी का डेटा मापने के वर्तमान सिस्‍टम का रिव्‍यू किया जाएगा। उसे और बेहतर किया जाएगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फर्जी टीआरपी का यह मामला तब सामने में आया था जब बार्क ने हंस रिसर्च ग्रुप के जरिये इस आशय की शिकायत दर्ज कराई थी कि कुछ टीवी चैनल टीआरपी के साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं। इसमें आरोप लगाया गया था कि ऐसे कुछ परिवारों को एक खास चैनल चलाने के लिए रिश्वत दी जा रही थी जिनके घरों में टीआरपी डाटा एकत्रित करने वाले उपकरण लगे थे।

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने किया था दावा

पिछले हफ्ते मुंबई पुलिस कमिश्नर (सीपी) परमबीर सिंह ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके दावा किया था कि विज्ञापनों से बेहतर राजस्व जुटाने के लिए रिपब्लिक टीवी, बॉक्स सिनेमा और फक्त मराठी चैनलों ने टीआरपी के साथ छेड़छाड़ की थी। हालांकि रिपब्लिक टीवी ने उनके दावे को पूरी तरह खारिज किया है।

यूपी के मिर्ज़ापुर से किया गया था शातिर को गिरफ्तार

इससे पहले बुधवार को मुंबई क्राइम ब्रांच ने मामले की तफ्तीश करते हुए उत्तर प्रदेश के मिर्ज्रापुर से एक शातिर अपराधी को हिरासत में लिए जो इस धंधे को पाल-पोस रहा था। मुंबई क्राइम ब्रांच ने उससे हिरासत लेकर उससे पूछताछ करने में जुटी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *