पांच युवकों के लिए काल बनी ठेकेदार के बेटे की स्टंटबाजी

गाजियाबाद के मुरादनगर क्षेत्र में एक दिल दहला देने वाला वाक़्या सामने आया। जहाँ एक युवक ने अपने स्टंट के चलते 5 लोगों की जान ले ली। बता दें कि रविवार रात ठेकेदार के बेटे ने पांच मजदूरों की जान ले ली। हादसा मेरठ-दिल्ली रोड पर मुरादनगर की वर्धमानपुरम पुलिस चौकी के पास हुआ। जहां काम से लौट रहे मजदूरों की ट्रॉली पलट गई। हादसे में चाचा-भतीजे सहित पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए।

बता दें कि हादसा वर्धमानपुरम पुलिस चौकी से करीब 200 मीटर दूर रैपिड रेल की बैरिकेडिंग से टकराकर ट्रॉली पलटने से हुआ । हादसे में पांच मजदूरों दुर्गेश (24) पुत्र ब्रह्मसिंह, प्रवेश (24) पुत्र सुनील, अमित (25) पुत्र मामचंद, कृष्ण (23) पुत्र बलिराम और चंद्रपाल (43) पुत्र गोधन की मौत हो गई।

मृतक में चंद्रपाल सहारनपुर के गांव बालपुर के रहने वाले थे, जबकि बाकी चारों मृतक थाना सरधना, मेरठ के गांव पोहली के रहने वाले थे। जबकि हादसे में दो मजदूर राहुल व जॉनी गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

सूचना के मुताबिक घायल राहुल का कहना है कि रात दो बजे काम खत्म करने के बाद ठेकेदार के बेटे शाहरूख ने दुर्गेश को ट्रैक्टर चलाने को कहा था, लेकिन उसने ठंड का हवाला देते हुए मना कर दिया था। इस पर तैश में आए शाहरूख ने ट्रैक्टर चलाना सिखाने की बात कहकर मजदूरों को लेकर चल दिया।

राहुल ने आरोप लगाया है कि शाहरूख रैपिड रेल की बैरिकेंडिंग से सटाकर ट्रैक्टर दौड़ा रहा था। मना करने पर भी नहीं माना। शाहरूख ने स्टंटबाजी दिखाने के लिए ट्रैक्टर से कट मारा, जिससे ट्रॉली अनियंत्रित होकर पलट गई। राहुल का कहना है कि काश ठेकेदार का बेटा बात मान लेता तो हादसा न होता।