20 साल की गैंगरेप पीड़िता ने अस्पताल में तोड़ा दम, वारदात को लेकर सियासत तेज

20 साल की गैंगरेप पीड़िता ने अस्पताल में तोड़ा दम, वारदात को लेकर सियासत तेज

20 साल की गैंगरेप पीड़िता ने अस्पताल में तोड़ा दम, वारदात को लेकर सियासत तेज

हाथरस : उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप का शिकार हुई दलित लड़की की आज दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल इलाज के दौरान मौत हो गई. पीडिता की उम्र केवल 19 साल थी. दरिंदों ने हैवानियत की सारी हदे पार कर उसका रेप किया, उसकी जीभ काट दी, रीढ़ की हड्डी तोड़ उसे अधमरा कर वहीँ छोड़ कर चले आए. इस घटने के बाद से लोगों में ज़बरदस्त आक्रोश देखने को मिला. वे सभी पीड़िता के लिए न्याय की मांग कर रहें थे.

छेड़खानी के आरोप में एक युवक को लिया हिरासत

हाथरस के थाना चंदपा इलाके के एक गांव में 14 सितंबर को चार दबंग युवकों ने 19 साल की दलित लड़की के साथ गैंगरेप को अंजाम दिया था. इस मामले में पुलिस ने लापरवाही भरा रवैया अपनाया. रेप की धाराओं में केस ना दर्ज करते हुए छेड़खानी के आरोप में एक युवक को हिरासत में लिया. इसके बाद उसके खिलाफ धारा 307 (हत्या की कोशिश) में मुकदमा दर्ज किया गया था.

घटना के करीब एक हफ्ते तक पीड़िता बेहोश थी. होश आने के बाद पीड़िता ने अपने साथ हुई आपबीती अपने परिजनों को बताई. जब पीड़िता का डॉक्टरी परीक्षण हुआ तो इसमें गैंगरेप की पुष्टि हुई जिसके बाद हाथरस पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार कर लिया. बाद में एक और आरोपी को अरेस्ट किया गया. पीड़िता के परिवार का आरोप है कि यूपी पुलिस ने उनकी शिकायत पर पहले कोई एक्शन नहीं लिया, लेकिन मामले पर गुस्सा बढ़ने लगा, जिसके बाद पुलिस हरकत में आई.

मामले पर भड़की सियासत

पीड़िता की मौत को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने भी ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, ‘यूपी के हाथरस में गैंगरेप के बाद दलित पीड़िता की आज हुई मौत की खबर अति-दुःखद. सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव सहायता करे व फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर अपराधियों को जल्द सजा सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह मांग.

वहीँ कांग्रेस की प्रभारी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाथरस में हैवानियत झेलने वाली दलित बच्ची ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया. दो हफ्ते तक वह अस्पतालों में जिंदगी और मौत से जूझती रही. हाथरस, शाहजहांपुर और गोरखपुर में एक के बाद एक रेप की घटनाओं ने राज्य को हिला दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *